DHS warns against using Chinese hardware and digital services

अमेरिका के यूएस डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (DHS-Department of Homeland Security) ने एक “बिज़नस एडवाइजरी” प्रकाशित करते हुए अमेरिकी कंपनियों को चीनी कंपनियों से जुड़े हार्डवेयर उपकरणों और डिजिटल सेवाओं का उपयोग करने के खिलाफ चेतावनी जारी की है|

DHS ने कहा कि चीनी प्रोडक्ट्स में Backdoors, Bug doors या Hidden data collection mechanisms शामिल हो सकते हैं, जिनका उपयोग चीनी अथॉरिटीज वेस्टर्न कंपनियों से डेटा एकत्र कर उसका उपयोग अपने इकोनोमिकल गोल्स को प्राप्त करने और स्थानीय कॉम्पिटिटर को इनफार्मेशन देने के लिए कर सकते हैं।

एजेंसी ने कहा कि चीनी कंपनियों से जुड़े सभी डिवाइसऔर सर्विसेज को साइबर सुरक्षा और व्यावसायिक जोखिम के तरह ही माना जाना चाहिए।

DHS का तर्क है कि चीनी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून सरकार को किसी भी स्थानीय कंपनी और नागरिक को प्रोडक्ट्स को बदलने और जासूसी में उपयोग होने या बौद्धिक संपदा (intellectual property) को चोरी करने की अनुमति देते हैं।

इसे भी पढ़े : साइबर ठगी से कैसे बचे? साइबर सेफ्टी के टॉप 10 टिप्स

डीएचएस ने इस प्रेक्टिस को “PRC [पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना] सरकार द्वारा प्रायोजित डेटा चोरी” बताया।

“काफी समय से, US Network & Data चीन स्थित साइबर खतरों से अवगत करा रहा है जो कि “वैश्विक बाजार में चीनी फर्मों को अनुचित प्रतिस्पर्धात्मक लाभ देने के लिए उस डेटा का उपयोग कर रहे हैं,”

होमलैंड सिक्योरिटी के कार्यकारी सचिव चाड एफ वोल्फ (Chad F. Wolf) ने कहा

“यह एक ऐसी प्रैक्टिस जो PRC [पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना] सरकार को संवेदनशील डेटा तक अनधिकृत पहुँच देती है, जो व्यक्तिगत और मालिकाना दोनों तरह शोषण (exploitation) के लिए अमेरिकी अर्थव्यवस्था और बिज़नस को सीधे खतरे में डालती है। हम आग्रह करते हैं कि सभी बिज़नसफर्म PRC-linked firm के साथ कोई भी बिज़नस समझौते करने से पहले सावधानी बरते।”

DHS ने प्रशासन में बदलाव से पहले अपनी एडवाइजरी प्रकाशित की, जिसमें राष्ट्रपति बिडेन (President Biden) को अगले महीने अपने स्वयं के डीएचएस प्रमुख का नाम देने की उम्मीद थी।

इसे भी पढ़े : व्हाट्सएप्प ओटीपी स्कैम क्या है

ट्रम्प प्रशासन के तहत, अमेरिकी अधिकारियों ने अमेरिकी कंपनियों से चीनी चोरी पर नकेल कसने पर ध्यान केंद्रित किया है।

FBI डायरेक्टर क्रिस्टोफर रे ने एक इंटरव्यू में कहा था कि FBI के लगभग 5,000 काउंटर-इंटेलिजेंस मामलों में लगभग आधे मामले चीन द्वारा US technology की चोरी से संबंधित थे।

अपने नए सलाहकार के माध्यम से, DHS अमेरिकी व्यवसायों को चेतावनी देता है कि चीनी द्वारा चोरी न केवल व्यापारिक साझेदारी और अंदरूनी खतरों के माध्यम से हो सकती है, बल्कि बैकडोर डिवाइसेस और डिजिटल सर्विसेज के माध्यम से भी हो सकती है।

DHS ने एक प्रेस रिलीज़ में कहा कि –

“कोई भी व्यक्ति या संस्था जो PRC से जुड़ी फर्मों से डेटा सर्विसेज और प्रोडक्ट की खरीद का विकल्प चुनती है, या ऐसी कंपनियों द्वारा विकसित सॉफ्टवेयर या डिवाइसेस पर डेटा स्टोर करती है, उन को आर्थिक, प्रतिष्ठित और कुछ मामलों में कानूनी, जोखिमों से अवगत होना ही चाहिए।”

जानकारी से आप संतुस्ट है या नहीं ? हमे कमेंट्स के अपने विचार अवश्य बताये .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here